meditation

महाशिवरात्रि – हर हर महादेव

महाशिवरात्रि – हर हर महादेव इस दुनियां में देखे लाखो, इक तुम सा देखा नहीं! जो तुझमे है, मुझमे गायब, जो मुझमे है तुममें नहीं! फिर भी इक ही शिव बसे है, तुझमे मुझमे आधे – आधे से कहीं! HAPPY MAHASHIVRATRI 2022???  

उस गागर की. पीर यही है. जिससे पनघट रूठा,, उसका तन साबुत है लेकिन, मन टुकड़ो में.. टूटा,,

उस गागर की. पीर यही है. जिससे पनघट रूठा,, उसका तन साबुत है लेकिन, मन टुकड़ो में.. टूटा,प्रे प्रेमयोग से भक्ति योग – समर्पण भाव